हाय हम अनूप न हुए

37 बरस छोटी शिष्या से प्रेम संबंधों का खुलासा कर अनूप जलोटा पूरे देश में एक नई लगन लगाने में कामयाब हो गए हैं। चाय-पान की दुकानों से लेकर सोशल मीडिया तक में हर कोई जलोटा के इस जलवे पर धराशायी है। अधिकतर इसी गम में है कि हाय हम अनूप क्यों न हुए। बिग बॉस में अनूप कुछ कर पाए न कर पाएं, लेकिन एक बात पक्की है, बाहर निकलते ही वे भजन के साथ मिले या लिखें टाइप की दुकान जरूर खोल सकते हैं। उसके चल निकलने की गारंटी देश के तमाम मर्द अभी से ले सकते हैं। हो सकता है कि कई ने अनूप से बाहर निकलने की दुआ करना भी शुरू कर दी होगी।

बड़ा ही दिलचस्प टाइप का कॉम्बिनेशन बन गया है। एकदम देशी मसालेदार सब्जी की तरह, फुल तरी वाली। देश के बड़े भजन गायक हैं, पिता भी उतने ही सम्मानित भजन गायक रहे हैं। जीवन भर से अपने भजनों के जरिये लोगों में ईश्वर के प्रति प्रेम जगाने की कोशिश कर रहे हैं। पीढ़ी के अंतराल के साथ एक वक्त के बाद सुर्खियों से खिसकना स्वाभाविक है। बावजूद इसके प्रोफेशन में कई उतार-चढ़ाव के बीच भी एक बार जो बना वह मुकाम किसी तरह बरकरार है। वे किसी शो का हिस्सा बने तो पवित्रता का भाव आता है। उनके भजन कानों में ताजा हो जाते हैं, लेकिन भजन का क्या है, आज सुने और कल हवा।

लेकिन बात जब स्त्री-पुरुष के संबंध की हो तो फिर हर कान दरवाजे से चिपक जाता है, आंखें दराजे ढूंढने लगती हैं। हिंदुस्तान में सेक्स जितनी तेजी से सुर्खियां बंटोरता है, उसका कोई मुकाबला ही नहीं है। किसी का एक एमएमएस वायरल होता है और पूरे सूचना तंत्र में सुनामी आ जाती है। कोई मर्यादा का झंडा लेकर सडक़ पर आ जाता है तो कोई मोबाइल टू मोबाइल ट्रांसफर कर उसी एमएमएस का हिस्सा हो जाने को उतावला हो जाता है। हर हाथ मोबाइल के बाद तो ये क्रांति और तेजी से फैलती है। यानी की मसाले पर हर बार तडक़ा पड़ता जाता है और वह और चटखारेदार बन जाता है।

अनूप के साथ भी वही हुआ। खुद से 37 बरस छोटी शिष्या 28वर्षीय जसलीन के साथ ठुमके लगाते नजर आए तो लोगों की आंखें बाहर आ गई। कई लोग अपने पुंसत्व के परीक्षण को विवश हो गए। हाय, ये क्या हुआ, ये भजन गा-गाकर 65 की उम्र में ये करिश्मा कर रहा है तो हम कहां फेल हो गए। सारे दमित, कुंठित और बजबजाते दिमाग अनूप की जिंदगी के सफहे ऐसे पलट रहे हैं, मानो उसमें 300 बरस पुराने खानदानी नुस्खे लिखे होंगे। दादा-परदादाओं के आजमाए शिलाजीत के प्रयोग, भस्म बनाने की नायाब की विधियां दर्ज होंगी। सब एक ही सवाल पूछ रहे हैं मियां कैसे, कैसे। ऐसी ही उत्सुकता प्रो. मटुकनाथ को लेकर भी हुई थी, जब उन्होंने भी अपनी शिष्या के साथ प्रेम की पींगे बढ़ाई थी।

इसके उलट जब प्रियंका चोपड़ा ने अपने से कम उम्र के मिक के साथ प्रेम स्वीकार किया तो भी भुचाल आ गया था। लोगों ने यह तक कह दिया कि भई तैमूर भी अल्लाह के फजल से बड़ा हो ही रहा है। प्रियंका और रुक जातीं तो यह भी हो सकता था। यानी लडक़ी किसी सूरत में हाथ से नहीं जानी चाहिए। वह नीचे उतरी यानी हम क्या मर गए थे वाला मर्दाना दंभ हिमालय की तरह खड़ा हो जाता है। याद होगा कुछ दिन पहले एक चैनल पर सीरियल शुरू हुआ था। जिसमें उम्र में बड़ी लडक़ी का छोटे लडक़े से ब्याह करा दिया जाता है। उसे देखते ही लोगों की त्योरियां चढ़ गई थीं। धर्म, मर्यादा, सामाजिक अनुशासन सब खतरे में आ गया था।

यानी मामला वही मर्दानगी की सड़ी-गली इबारत का है, जिसके लिए गोश्त के एक ही मायने हैं। वह बर्दाश्त ही नहीं कर पाता कि कोई अधिक उम्र का किसी कमसिन का हमसफर हो जाए। खुद की काबिलियत पर शक होने लगता है। अधिक वय की सुंदरी किसी कमउम्र का हाथ थामे तो फिर सौतिया डाह स्वाभाविक है कि हमारे रहते कैसे। यही कैसे-कैसे सीने पर कील ठोंक रहा है। जहां से गुजरते हैं, यही आवाज सुनाई दे रही है। ठंडे, बासी और पकाऊ बिग बॉस के साथ अनूप ने खानदानी शफा खानों के भी अच्छे दिन ला दिए हैं। अनूप पहले भी तीन शादियां कर चुके हैं, इसलिए जलन कुछ ज्यादा ही है।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.