irfan khan

तुम मेरी दुनिया छीनोगे मैं तुम्हारी दुनिया में घुस जाऊंगा

एक दोस्त की किसी से लड़ाई हुई। दोस्त ने कहा, जान से मार दूंगा। धमकी बहुत बड़ी थी, लेकिन सामने वाले पर इतना असर नहीं हुआ। पर्दे पर किसी फिल्म …

तुम मेरी दुनिया छीनोगे मैं तुम्हारी दुनिया में घुस जाऊंगा Read More
narmada river

नर्मदा जो सिर्फ नदी नहीं है

जब आप किसी नदी के साथ जीते हैं तो वह आपके भीतर जीने लगती है। आपके मन को द्रवित और प्रवाहमान कर देती है। नदी का साथ अथक परिश्रम और …

नर्मदा जो सिर्फ नदी नहीं है Read More
politics

सत्ता न होती तो क्या होता

मैं और मेरी तन्हाई अक्सर बातें करती हैं। यदि सत्ता नहीं होती तो क्या होता, कैसा होता। मैं यही सोचता रहा पूरी शाम। मैं सवाल उठाता, मेरी तन्हाई उसका जवाब …

सत्ता न होती तो क्या होता Read More
ndtv

बिना आवाज की डेमोक्रेसी का स्टार्ट अप

एक दिन के बैन पर विरोध के लिए एनडीटीवी ने अनूठा तरीका अपनाया। प्राइम टाइम में रविश कुमार दो माइम कलाकारों के साथ बैठे और उनका इंटरव्यू किया। संकेतों की …

बिना आवाज की डेमोक्रेसी का स्टार्ट अप Read More

ताली बजाएं या मातम मनाएं

कुछ ही दिन हुए हैं, जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि कहीं भी सैनिक नजर आएं तो सब तालियां बजाकर उनका सम्मान करें। बुधवार को कम पेंशन मिलने …

ताली बजाएं या मातम मनाएं Read More
central_jaill_bhopal

जेल को जेल ही रहने दो

सिमी आतंकियों द्वारा जेल से भागने की घटना ने पूरी जेल व्यवस्था को कठघरे में खड़ा कर दिया है। एनआईए और अन्य एजेंसियों द्वारा उठाए गए सवालों से इतर भी …

जेल को जेल ही रहने दो Read More

ठंड के साथ कई ठाठ पुराने निकले

आइये कुछ अच्छी बातें करते हैं। मौसम के बदलाव ने रफ्तार पकड़ ली है। थर्मामीटर का पारा लुढक़ रहा है। शाम शाल के आगोश में सिर रखने को बेकरार है …

ठंड के साथ कई ठाठ पुराने निकले Read More
pictures-of-encounter-in-which-8-simi-terrorists-who-fleed-from-bhopal-central-jail-killed

सवालों से घबराहट क्यों

कुछ लोगों को आपत्ति है कि भोपाल की जेल से फरार सिमी आतंकियों के एनकाउंटर पर सवाल क्यों खड़े किए जा रहे हैं। वे आतंकी थे और एक प्रहरी का …

सवालों से घबराहट क्यों Read More

खरीदी का जायका तुम क्या जानो वेब बाबू

मेरे एक दोस्त ने दिवाली की सारी खरीदी अंगुलियों से चुटकियों में कर ली। मैं बड़ा हैरान रह गया, तीन-चार दिन हो गए। हर बार लगता है कि अब हो …

खरीदी का जायका तुम क्या जानो वेब बाबू Read More