प्रेम कैसे अपराध हो सकता है

भीड़ का अपना चरित्र होता है। वह आसपास अपने जैसे चेहरे-मोहरे देखना पसंद करती है। क्योंकि अलग दिखने और होने वाले लोग उसे खलते हैं। हम तय परिभाषाओं के परकोटे …

प्रेम कैसे अपराध हो सकता है Read More